सिवान: सिविल सर्जन से मिला AISF का प्रतिनिधिमंडल, कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री को प्रेषित ज्ञापन सौंपा

सिवान (जागता हिंदुस्तान) ऑल इण्डिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (AISF) के छात्रों ने राज्यव्यापी आह्वान पर सिविल सर्जन को से आज मुलाकात की।मुलाकात में एआईएसएफ के छात्रों ने मुख्यमंत्री के नाम सिविल सर्जन को ज्ञापन सौंपा।
ज्ञापन में घर-घर कोरोना जाँच शुरू कराने, प्रखंड स्तर पर जाँच केंद्र खोलने, जीडीपी का 3 फीसदी स्वास्थ्य पर खर्च करने,सभी स्वास्थ्य कर्मियों एवं सफाई कर्मियों को सुरक्षा उपकरण किट व पीपीई उपलब्ध कराने,कोरोना के नाम पर भय-दहशत समाप्त कर अन्य बीमारी के मरीजों को भी देखने की गारंटी,अन्य मरीजों को नहीं देखने वाले चिकित्सकों पर आपराधिक मुकदमा, स्वास्थ्य का केरल मॉडल लागू करने एवं निजी अस्पतालों का अधिग्रहण कर उसमें काम करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को योग्यता के अनुसार नौकरी देने की माँग शामिल है। राज्यव्यापी आह्वान पर ज्ञापन बुधवार को हीं दिया गया था लेकिन मुख्यमंत्री के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में व्यस्त होने की वजह से सिविल सर्जन ने आज वार्ता के लिए बुलाया था।

गुरुवार को एआईएसएफ के तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के क्रम में सिविल सर्जन यदुवंश कुमार शर्मा ने कहा कि पत्र को मुख्यमंत्री के आप्त सचिव को अग्रसारित कर दिया गया है। सिविल सर्जन ने कहा कि आपकी माँगे जायज हैं लेकिन अधिकांश नीति आधरित है जिसमें वे कुछ नहीं कर सकते। उपलब्ध संसाधनों का बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर जितना अधिक से अधिक लोगों को लाभ पहुँचाया जा सकता है उसमें हमलोग कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे।उन्होंने बताया किकोरोना जाँच केंद्र और अधिक बढ़ाने की कोशिश की जा रही है।थोड़ा भी शक होने पर मरीजों का जाँच कराया जा रहा है।

प्रतिनिधिमंडल में एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार, जिला संयोजक शशि कुमार एवं नीरज कुमार यादव शामिल थे। इस मौके सिवान के डीपीएम ठाकुर विश्वमोहन भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *