AISF ने नीतीश-पासवान को भेजा पत्र, कहा- ठोस पहल नहीं हुई तो कोरोना की बजाय भूख से होगी मौत

पटना (जागता हिंदुस्तान) ऑल इण्डिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (AISF) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एंव केंद्रीय खाद्य, उपभोक्ता एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान को पत्र भेज राशन कार्ड से वंचित लोगों को भी आवश्यक खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने एवं सभी को चावल-गेहूँ के अतिरिक्त दाल, चीनी, सरसो तेल,नमक, मसाला एवं अन्य आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराने की माँग की है।

एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार एवं राज्य अध्यक्ष रंजीत पंडित ने भेजे गए पत्र में कहा है कि नोवल कोरोना वायरस वैश्विक महामारी का रूप धारण कर चुका है और राज्य के आवाम इस घड़ी में एकजुटता के साथ खड़े हैं। लेकिन राज्य के वैसे लोग जो प्रतिदिन मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं, उनके सामने कोरोना के साथ-साथ भूख से लड़ने का संकट भी खड़ा हो चुका है।

उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा घोषणा की गई कि पर्याप्त मात्रा में खाद्य सामग्री मौजूद और जरूरतमंदों को राहत सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। लेकिन कई कारणों से जरूरतमंदों के पास राशनकार्ड नहीं है। लॉकडाउन के दौरान लोग घरों में सुरक्षित तो बैठे हैं लेकिन उनका काम बंद है और भूख उनकी जरूरत है।

छात्र नेताओं ने सरकार को सावधान करते हुए कहा कि दिहाड़ी मजदूरों एवं छोटे किसानों को संसाधन रहित परिवारों को जिंदा रहने के लिए अगर बुनियादी जरूरत की चीजों को उपलब्ध नहीं कराया गया और कोई ठोस पहल नहीं किया गया तो दर्दनाक खबरें आ सकती है। कोरोना की बजाय भूख से मौतें होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *