केंद्र सरकार ने कोरोना को देश में आमंत्रित किया- शक्ति सिंह

पटना (जागता हिंदुस्तान) कोरोना महामारी को लेकर जारी लॉक डाउन के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज़ (मुख्यालय) के मामले को लेकर राजनीति तेज होने लगी है। सरकार जहां देश में बढ़ते कोरोना के मामले को लेकर तबलीगी जमात से जुड़े लोगों को जिम्मेदार ठहराने में जुटी है। वहीं विपक्ष इस मामले को लेकर सरकार पर हमलावर है।

इसी क्रम में राष्ट्रीय जनता दल के विधायक सह प्रवक्ता शक्तिसिंह यादव ने केंद्र सरकार पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा है कि जनवरी माह में ही भारत में कोरोना ने दस्तक दे दिया लेकिन सरकार नहीं चेती। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार कह रहे थे कि कोरोना के कारण देश में सुनामी जैसी स्थिति उत्पन्न होगी, फिर भी सरकार नहीं जागी। शक्ति सिंह ने कहा कि पहले स्वास्थ्य मंत्रालय कहता है कि कोरोना को लेकर हेल्थ केयर जैसी कोई स्थिति नहीं, उसके 5 दिन बाद ही सरकार को जनता कर्फ्यू और उसके बाद लॉक डॉउन करना पड़ता है।

राजद विधायक ने कहा कि आज कहा जा रहा है कि तबलीगी जमात के कारण देश में कोरोना के मामले बढ़े, तो उसे रोकना किसकी जिम्मेदारी थी? उन्होंने कहा कि जब तबलीगी जमात के लोग विदेश से भारत में कार्यक्रम के लिए आ रहे थे, तो उनका वीजा रद्द क्यों नहीं किया गया। उनका स्वास्थ्य परीक्षण क्यों नहीं किया गया।

शक्ति सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार ने देश में कोरोना को आमंत्रित किया और अब अपनी नाकामी को छुपाने के लिए दोषारोपण करना उचित नहीं। अभी सभी को मिलकर कोरोना से लड़ने की जरूरत है। देश और दुनिया कोरोनावायरस से जूझ रहा है तो दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी ऐसी आपदा की स्थिति में भी राजनीति करने से बाज नहीं आ रही।

राजद विधायक ने कहा की विपक्ष इस मामले पर राजनीति करना नहीं चाहता लेकिन भारतीय जनता पार्टी ऐसी परिस्थिति में भी राजनीतिक स्टंट कर रही है। उन्होंने कहा कि हम लोग चाहते हैं कि देश इस महामारी से उबरे और एक स्वस्थ राष्ट्र बने।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *