Coca-Cola ने Care इंडिया के साथ की भागीदारी, ज़रूरतमंदों को मुहैया कराएगा आवश्यक वस्तु

न्यूज़ डेस्क (जागता हिंदुस्तान) कोका-कोला ने गरीब और संवेदनशील लागों को तत्‍काल खाद्य सुरक्षा एवं अन्‍य आवश्‍यक वस्‍तुएं मुहैया कराने के लिए केयर इंडिया के साथ भागीदारी की है। कंपनी का ध्‍यान कोविड-19 महामारी के दौरान राहत कार्यों को सहयोग देने पर केंद्रित है। इस पहल के एक हिस्से के तौर पर, कोका-कोला और केयर इंडिया देश के विभिन्न हिस्‍सों में गरीबों जैसे प्रवासी मजदूरों, दैनिक वेतनभोगियों और एचआईवी/एड्स से पीड़ित लोगों की पोषण सम्बंधी विशिष्ट आवश्यकताओं को पूरा करने के लिये ध्यानपूर्वक तैयार किये गये फूड आइटम्स के साथ सूखे राशन के किट्स प्रदान करेंगे। तीन महीने के इस कार्यक्रम का लक्ष्य इस महीने से 1.5 लाख से ज्यादा लोगों को लाभ प्रदान करना है। यह पहल 10 लाख से ज्यादा लोगों को लाभ पहुँचाने और उन्हें सकारात्मक रूप से प्रभावित करने वाले विभिन्न कोविड-19 राहत कार्यक्रमों के लिये कोका-कोला की 100 करोड़ रुपये की प्रतिबद्धता  का हिस्सा है।

इस पहल के तहत, कोका-कोला और केयर इंडिया ने बिहार में सूखा राशन वितरण कार्यक्रम शुरू किया है। कोका-कोला और केयर इंडिया के कर्मचारियों ने इस सामुदायिक सेवा अभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम में 2200 से ज्यादा घरों तक जरूरी चीजों वाली सूखा-राशन किट्स पहुंचाई जानी हैं।

थोड़े से संसाधनों वाले और भोजन संकट से प्रभावित लोगों के बीच सूखा राशन वितरित करने के लिये यह कार्यक्रम दिल्ली और एनसीआर, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, आंध्रप्रदेश, हरियाणा, पश्चिम बंगाल और बिहार में चलाया जाएगा। राशन किट्स में कई जरूरी चीजें हैं, जैसे गेहूं का आटा, चावल, दाल, खाद्य तेल, मसाले, शक्कर, नमक, सोया चंक्स, पोहा, मूंगफली, प्रोटीन पाउडर, मिल्क पाउडर और साबुन। महिलाओं और लड़कियों और खासकर कमजोर वर्गों, जैसे एचआईवी/एड्स से पीड़ित लोगों की पोषण सम्बंधी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये विशेष ध्यान दिया गया है, ताकि उन्हें इस चुनौतीपूर्ण समय का बेहतर सामना करने में मदद मिल सके। कोका-कोला और केयर इंडिया का मानना है कि परेशान लोगों के साथ भी सम्‍मानजनक व्यवहार होना चाहिये और इसलिये वे सुरक्षित और आदरपूर्ण वितरण पद्धति अपनाने के लिये प्रतिबद्ध हैं।

इस पहल पर टिप्पणी करते हुए कोका-कोला इंडिया और साउथ वेस्‍ट एशिया के लिये पब्लिक अफेयर्स, कम्युनिकेशंस एवं सस्टैनेबिलिटी के वाइस प्रेसिडेन्ट श्री इश्तियाक अमजद ने कहा, ‘‘हम सबसे कमजोर समुदायों को भोजन और जरूरी सामान से सहयोग प्रदान करने के लिये अपने भागीदार केयर इंडिया के साथ जुड़कर गर्व महसूस कर रहे हैं। हमें उम्मीद है कि हमारे संयुक्त प्रयासों से हमारे समाज के सबसे कमजोर लोगों की स्थिति बेहतर बनाने में मदद मिलेगी और एक देश के तौर पर मिलकर प्रयास करने से हम परीक्षा की इस घड़ी से बाहर निकल सकेंगे।’’

केयर इंडिया के डायरेक्‍टर प्रोग्राम्‍स सुनील जनार्दन पडाले ने कहा, “बिहार के ग्रामीण इलाकों में प्रवासी बड़ी संख्या में वापस लौटे हैं, जिससे भोजन की उपलब्धता को लेकर ऐसे परिवारों पर काफी दबाव पड़ने लगा है। कोका-कोला फाउंडेशन के सहयोग से, केयर इंडिया बिहार के मधेपुरा जिले में यह सुनिश्चित कर रहा है कि फिलहाल भोजन जुटाने के लिए जूझ रहे 2265 गरीब परिवारों को सहायता मिल सके।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *