राज्यसभा सीट के विवाद पर बोली कांग्रेस, बड़बोले नेताओं को समझाएं तेजस्वी यादव

पटना (जागता हिंदुस्तान) राज्यसभा की एक सीट को लेकर बिहार कांग्रेस और राजद आमने-सामने है। लगातार दोनों तरफ से बयानबाजी हो रही है। हालांकि बिहार कांग्रेस इस बयानबाजी को राज्यसभा सीट के मामले में कोई मतभेद या रस्साकशी नहीं मान रही। इसी क्रम में कांग्रेस के विधान पार्षद से प्रदेश प्रवक्ता प्रेमचंद मिश्रा ने कहां है कि राज्यसभा सीट को लेकर राजद और कांग्रेस में किसी तरह का मतभेद या रस्साकशी का मामला नहीं है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के समय महागठबंधन के प्रेस कॉन्फ्रेंस में बकायदा नेता प्रतिपक्ष तहत यादव ने कांग्रेस को राज्यसभा की एक सीट देने का वादा किया था। कमल प्रवक्ता ने कहा कि राज्यसभा सीट के लिए नामांकन शुरू हो गए हैं तो बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को इसी बात का स्मरण कराया है।

प्रेमचंद्र मिश्रा ने सीधे तौर पर कहा कि राजद ने जो वादा किया है, वह निभाना पड़ेगा। इसके साथ ही उन्होंने राजद विधायक सह प्रवक्ता भाई वीरेंद्र के बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि इस मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, विधान परिषद में विरोधी दल की नेता राबड़ी देवी या विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी अपने स्तर पर जब तक कुछ नहीं बोलते तब तक राजद के दूसरे नेता हमें क्या हिदायत दे रहे हैं यह मायने नहीं रखता है।

उन्होंने कहा कि राजद के नेताओं द्वारा जिस भाषा का प्रयोग किया जा रहा है वह अनुचित है। उन्होंने कहा कि राजद नेता अपने सहयोगी दल के लिए उस भाषा का प्रयोग कर रहे हैं जो विरोधी पार्टियों के लिए करते हैं। प्रेमचंद मिश्रा ने बिना नाम लिए भाई वीरेंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि राजद के कतिपय नेता कांग्रेस के लिए भाषा का प्रयोग कर रहे हैं जिसका प्रयोग में भाजपा जदयू के लिए करते हैं। कांग्रेस एमएलसी ने कहा कि तेजस्वी यादव अपने ऐसे बड़बोले नेताओं को समझाएं कि कांग्रेस के बारे में अनर्गल बयान नहीं दें। प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि यह राजद का फैसला था कि वह कांग्रेस को राज्यसभा की सीटे दे। उन्होंने कहा कि राजद का शीर्ष नेतृत्व सही समय पर इस बात पर फैसला लेगा और इसको लेकर कहीं कोई विवाद नहीं होगा।

यह पूछे जाने पर कि 13 मार्च को नामांकन का अंतिम दिन है, इतने कम समय में किस तरह से बात बनेगी? यह सवाल के जवाब में प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि अभी 4 दिन का समय बाकी है। इस मामले को लेकर कांग्रेस और राजद का नेतृत्व एक दूसरे के संपर्क में हैं। आने वाले एक-दो दिन में इसके सकारात्मक परिणाम नजर आएंगे।

बता दें कि कांग्रेस को राज्यसभा सीट देने के सवाल पर भाई वीरेंद्र ने कहा है कि जो सीट देना था वह पहले ही कांग्रेस को दे चुके हैं। अब राज्यसभा की सीट देने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *