नीतीश राज में 1,35000 रु. का कर्जदार है प्रत्येक बिहारी- तेजस्वी

पटना (जागता हिंदुस्तान) बिहार विधानमंडल के बजट सत्र के तीसरे दिन भी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सदन के अंदर नीतीश सरकार पर पुरजोर हमलावर रहे। तेजस्वी यादव ने मंगलवार को बिहार सरकार द्वारा पेश किए गए बजट पर भी जमकर निशाना साधा।

तेजस्वी ने कहा कि बिहार सरकार के आर्थिक सर्वेक्षण 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक बिहार में प्रति व्यक्ति आय 33,000 रुपए है जो देश में प्रति व्यक्ति आय से लगभग तीन गुणा कम है। वहीं नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बिहार के विकास के दावों को हवा हवाई करार देते हुए कहा कि साल 2004 में प्रत्येक बिहारी पांच हज़ार रु. का कर्जदार था, वहीं नीतीश सरकार के 15 साल के शासनकाल में आज प्रत्येक बिहारी एक लाख पैंतीस हज़ार रुपये का कर्जदार है।

नेता प्रतिपक्ष ने कटाक्ष करते हुए कहा कि यही है नीतीश सरकार का विकास। इसके साथ ही उन्होंने बिहार में मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड समेत अपराध एंव भ्रष्टाचार का मामला उठाते हुए कहा कि बिहार अपराध में अव्वल है, वहीं शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार एवं इंफ्रास्ट्रक्चर में सबसे निचले पायदान पर है। तेजस्वी यादव ने कहा कि यह रिपोर्ट हम कोई अपने बगल से नहीं लाए बल्कि यह नीति आयोग की रिपोर्ट है जो आप सब जानते हैं।

इसके साथ ही तेजस्वी यादव ने विभिन्न परीक्षाओं में पेपर लीक के मामले को उठाते हुए कहा कि बिहार में कोई ऐसी परीक्षा नहीं जहां पर पेपर लीक नहीं हुआ हो। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के शिक्षा के क्षेत्र में काम करने के दावों पर कहा कि मुख्यमंत्री यह बात कहते हैं कि उन्होंने ज्यादा से ज्यादा बच्चों को प्राथमिक स्कूल तक पहुंचाया लेकिन यह नहीं बताते कि वही बच्चे नवमी-दसवीं कक्षा तक आते-आते 56% ड्रॉप आउट हो जाते हैं। तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शिक्षा की गुणवत्ता को तबाह कर दिया है।

वहीं तेजस्वी यादव के रोजगार को लेकर दिए गए बयान पर बिहार सरकार में भाजपा को कोटे के श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा भड़क गए। श्रम मंत्री के भड़कने के बाद भाजपा के अन्य विधायक भी हंगामा करने लगे जिसके बाद तेजस्वी यादव ने उन पर कड़ा प्रहार किया। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इन लोगों को सच सुनना पसंद नहीं है। उन्होंने कहा कि ना तो यह लोग गलती मानते हैं और न ही उसे सुधारते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *