‘ठग्स ऑफ बिहार’ पोस्टर में लालू प्रसाद के शासनकाल का सच- नीरज कुमार

पटना (जागता हिंदुस्तान) राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को लेकर ‘ठग्स ऑफ बिहार’ के नाम से जारी पोस्टर से जदयू ने किनारा कर लिया है। हालांकि पार्टी ने इसे पूरी तरह से सही बताया है। इस मामले को लेकर बिहार सरकार में जदयू कोटे के सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने कहा है कि पोस्ट किसने जारी किया इसका तो पता नहीं है, लेकिन पोस्टर में जिस भावना को प्रकट किया गया है वह राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के शासनकाल का सच है। नीरज कुमार ने कहा कि फिल्म ठग्स ऑफ हिंदुस्तान में जो दिखाया गया था अगर 1990 से 2005 के दौर को देखेंगे तो उसमें भी अपहरण होता था और उसकी पंचायत कहां होती थी। टेंपो चालकों के साथ किस तरह का व्यवहार होता था। गरीब और दबे कुचले लोगों को शिक्षा देने के बजाय चरवाहा विद्यालय भेजा जाता था। नरेश कुमार ने कहा कि इस पोस्टर में राजनीत के ठगों का प्रकटीकरण हुआ है। इसके बाद उन्होंने कहा कि जिसे लारा फिल्म द्वारा इसे प्रस्तुत किया गया है, उसमें बिहार की जनता ने 1990 से 2005 तक जो कुछ भी झेला है उसी का प्रकटीकरण है।
बता देगी मंगलवार को राजद द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कुर्सी पुजारी बताने के साथ साथ 2020, नीतीश कुमार फिनिश स्लोगन के साथ पोस्टर जारी किया गया था। माना जा रहा है कि जदयू ने इसी पोस्टर के जवाब में ठग्स ऑफ बिहार बिहार पोस्टर जारी किया है। हालांकि पोस्टर में कहीं भी जदयू का नाम शामिल नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *