कायस्थ महासभा ने BJP को दिखाई आंख, कहा- लालू प्रसाद से हमें परहेज नहीं

पटना (जागता हिंदुस्तान) भाजपा की ओर से पार्टी के वरिष्ठ नेता आर के सिन्हा को दोबारा राज्यसभा का उम्मीदवार बनाए जाने की जगह पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी ठाकुर के बेटे विवेक ठाकुर को बिहार से राज्यसभा का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद से भाजपा समर्थकों का एक धड़ा बेहद नाराज है। इसी क्रम में अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ने भी भाजपा के निर्णय पर कड़ी आपत्ति जताई है।

महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि नंदन सहाय ने कहा है कि भाजपा ने अपने सबसे वरिष्ठ नेता आर के सिन्हा को दोबारा राज्यसभा का टिकट न देकर सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास की अपनी नीति पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर दिया है। उन्होंने आर के सिन्हा का टिकट काटे जाने को भाजपा की शिकायत विरोधी राजनीति की संज्ञा देते हुए इसे कार्य समाज की अस्मिता पर हमला बताया।

उन्होंने कहा कि आर के सिन्हा ने हमेशा सर्व समाज के कल्याण के लिए अपना जीवन देकर भाजपा की नींव मजबूत कि अफरीदी उनके समर्थित निष्ठा और सेवा की घोर उपेक्षा से की जाती रही कि वे कायस्थ समाज से आते हैं, जो अत्यंत निंदनीय है।

इसके साथ ही रविनंदन सहाय ने चेतावनी देते हुए कहा कि भाजपा ने कायस्थ महासभा का विश्वास खो दिया है। उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर कहा कि अब निर्णायक कदम उठाने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद बीएसई कायस्थ समाज के पास ही आनी चाहिए थी लेकिन यह सीट लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान को दे दी गई। सहाय ने कहा कि भाजपा का यह निर्णय कायस्थ समाज को राजनीति में हाशिए पर ले जाने की साजिश है। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा एक कायस्थ संसद का आयोजन करेगी जिसमें आगामी चुनाव को लेकर रणनीति तय की जाएगी।

वहीं महासभा के सदस्य कुमार अनुपम ने सीधे तौर पर कहा कि कायस्थ समाज के लोग राजनीति एक भावना के साथ करते रहे जबकि भाजपा ने राजनीति में रणनीति से काम लिया है। उन्होंने कहा कि कायस्थ महासंसद में अब आगे की रणनीति तैयार की जाएगी।

कुमार अनुपम ने कहा कि भाजपा ने कायस्थ समाज की उपेक्षा आर के सिन्हा और कायस्थ समाज को कचरे में डाल दिया है। उन्होंने कहा कि इस निर्णय को देखकर कायस्थ समाज के लोगों का राजनीति में मनोबल टूटेगा। इसके साथ ही उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ जाने का इशारा देते हुए कहा कि कुमार अनुपम ने सीधे तौर पर कहा कि कायस्थ समाज को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद से भी कोई परहेज नहीं। अगर राजद के साथ भी जाना होगा तो जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमारे लिए कोई भी अछूत नहीं है।

बता दें कि आर के सिन्हा और उनके बेटे ऋतुराज सिन्हा में से किसी को भी भाजपा द्वारा राज्यसभा का उम्मीदवार नहीं बनाए जाने के मामले को लेकर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ने पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

इस अवसर पर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के डॉ. निर्मल कुमार श्रीवास्तव, सुजीत कुमार वर्मा, सुदामा सिन्हा, शालिनी सिन्हा, अमिताभ, मनोज कुमार मनोज समेत अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *