सात निश्चय से सामाजिक क्षेत्र में आये बड़े बदलाव- ओमप्रकाश सेतु

पटना (जागता हिंदुस्तान) युवा जदयू के प्रदेश प्रवक्ता ओमप्रकाश सिंह सेतु ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा राज्य के सुशासन के कार्यक्रम के तहत विकसित बिहार के लिए शुरू की गई सात निश्चय योजना से सामाजिक क्षेत्र में बड़े बदलाव आए हैं। 2015 में अपने नए कार्यकाल की शुरुआत के वक्त मुख्यमंत्री ने सात निश्चय की शुरूआत की थी। स्वयं सहायता भत्ता योजना 20 से 25 वर्ष के बेरोजगार युवाओं को रोजगार तलाशने के दौरान सहायता के तौर पर 1000 रूपये प्रतिमाह भत्ता दिया जाता है।

अब तक करीब सवा लाख युवाओं को लाभान्वित किया गया है। स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना से करीब 1.11 लाख छात्रों को चार-चार लाख रुपए का ऋण दिया गया है। कुशल युवा कार्यक्रम के जरिये15 से 28 वर्ष के युवा जो मैट्रिक या समतुल्य उत्तीर्ण है, उन्हें भाषा (हिन्दी/ अंग्रेजी) एवं संवाद कौशल, बुनियादी कम्प्यूटर ज्ञान एवं व्यवहार कौशल का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। साथ ही राज्य के सभी विश्वविद्यालयों को वाई फाई से लैस किया गया है। आरक्षित रोजगार महिलाओं का अधिकार निश्चय से राज्य की सभी सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 35 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। हर घर बिजली के तहत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रो के प्रत्येक घर में बिजली की उपलब्धता प्रदान की गई।

सेतु ने कहा कि हर घर नल का जल के तहत बिहार के हर नागरिक को बगैर किसी भेद-भाव के स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है। अबतक करीब तीन करोड़ परिवारों को उनके घर में पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध करा दिया गया है। मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना के तहत राज्य के गैर गुणवत्ता प्रभावित 8386 ग्राम पंचायत के कुल 1,14,691 ग्रामीण वार्डो में से 4291ग्राम पंचायतो के 58,162 ग्रामीण वार्डो को शुद्ध (पीने योग्य) पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है।

वहीं, ग्रामीण टोला संपर्क योजना के संबंध में सेतु ने बताया कि इसके तहत 13786 संपर्कविहीन बसावटो को संपर्कता दी गयी है। युवा जदयू प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री किसी भी कार्य को एक निश्चय के तहत प्रारंभ करते हैं और उसे पूरा करते हैं। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में राज्य लगातार प्रगति के पथ पर बढ़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *