lockdown: सोशल डिस्टेंसिंग के CM नीतीश की अपील को हल्के में ले रहे पप्पू यादव !

पटना (जागता हिंदुस्तान) कोरोना के महामारी घोषित किए जाने के बाद बिहार सरकार द्वारा राज्य को लॉक डाउन करने के आदेश के तहत ज्यादातर लोग अनावश्यक तौर पर घर से बाहर निकलने से बच रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ पॉलिटिकल स्टंट बदस्तूर जारी है। गरीबों के बीच मास्क और सैनिटाइजर का वितरण कर राजनीतिक दल सरकारी व्यवस्था पर हमला करने के बहाने कहीं ना कहीं अपना चेहरा चमकाने में भी जुटे हैं। हालांकि इन सबके बीच करोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार के सोशल डिस्टेंसिंग की अपील पूरी तरह से दरकिनार नजर आ रही है।

इसी क्रम में जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद पप्पू यादव ने भी स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के सरकारी आवास के बाहर गरीबों के बीच मास्क और साबुन का वितरण किया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के सरकारी निर्देशों की पूरी तरह से धज्जियां उड़ती नजर आई। पप्पू यादव के हाथों मास्क और साबुन लेने के लिए लोग एक दूसरे में गुत्थम-गुत्थी करते नजर आए। खुद पप्पू यादव ने इस फ़ोटो और वीडियो को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया है।

वीडियो शेयर करने के साथ ही पप्पू यादव ने स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे पर निशाना साधा है। पप्पू यादव ने लिखा है, ‘दिल्ली जाने के क्रम में बिहार के स्वास्थ्य मंत्री श्री मंगल पांडेय जी के आवास के बाहर पहुंचा तो लोगों ने बड़ी उम्मीद से मेरी गाड़ी रुकवाई। सभी गरीब लोग थे, जो इस संकट में बेहद परेशान हैं। उन्हें हमने मदद के रूप में मास्क और डिटॉल साबुन दिया। साथ ही कई लोगों को खाना भी दिया, जो कल से भूखे थे। मंत्री जी, कम से कम लोगों को थोड़ा भोजन ही दे देते। ये आपके ही पड़ोसी हैं। बस इनका कसूर इतना है कि ये गरीब हैं और इनकी गरीबी से आपकी रईसी चलती है।’

बड़ा सवाल यह है कि जब मास्क लेने की होड़ में लोग धक्का-मुक्की करने लगे। उनके बीच एक इंच की भी दूरी बाकी नहीं रहे। ऐसे में खुदा-ना-खस्ता कोरोना से संक्रमित कोई व्यक्ति अनजाने में इस भीड़ में मास्क और साबुन लेने पहुंच गया तो बाकी लोगों का क्या होगा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *