नीतीश के साथ तेजस्वी को भी बिहार का सीएम नहीं चाहते पप्पू यादव, आज अपनी पंसद का कर दिया खुलासा

पटना (जागता हिंदुस्तान) बिहार में विधानसभा चुनाव की सरगर्मी हर दिन तेज हो रही है। सभी दल अब रणनीति के तहत जाति कार्ड खेलने में भी जुट गए हैं। इसी क्रम में भाजपा द्वारा बिहार में मुख्यमंत्री पद के लिए किसी दलित उम्मीदवार बनाए जाने के बयान को लेकर जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद पप्पू यादव ने कड़ी टिप्पणी की है। इतना ही नहीं, हमेशा राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की तारीफ करने वाले पप्पू यादव ने इस मामले को लेकर उनकी कोशिशों पर भी सवाल खड़ा कर दिया है।

पप्पू यादव ने सवाल खड़ा किया है कि हर चुनाव के समय ही राजनीतिक दलों को अति पिछड़ों, मुसलमानों, वंचितों और दलितों की याद क्यों आती है? उन्होंने कहा कि कब तक राजनीतिक लोग और पार्टी यहां तुष्टीकरण की राजनीति करेंगे और कब तक समाज के उन वर्गों का इस्तेमाल करेंगे जिनका भारत के निर्माण में सबसे अधिक योगदान है। उन्होंने कहा कि अब भाजपा नसीहत दी है कि किसी दलित को मुख्यमंत्री बनाया जाए। पप्पू यादव ने कहा कि भाजपा को उनकी नेक सलाह है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को 15 वर्ष हो गए अब उनकी आयु भी राजनीति की नहीं रही। बिहार को एक युवा नेतृत्व की जरूरत है तो क्यों नहीं चिराग पासवान को भाजपा मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाती है। उन्होंने कहा कि चिराग पासवान एक शिक्षित और युवा नेता है उन्हें मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करें तो हम उनका समर्थन करेंगे। जब सुप्रीमो ने कहा कि वह भाजपा से कहना चाहते हैं कि केवल सलाह मत दीजिए, कीजिए भी।

इसके साथ ही उन्होंने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद का नाम लेते हुए कहा कि अगर बिहार को बचाने की राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की ईमानदार कोशिश है तो निश्चित तौर पर उन्हें किसी न किसी दलित या अत्यंत पिछड़े को अपनी पार्टी से नेतृत्व देना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसा हुआ तो हर कोई साथ खड़ा होगा। पप्पू यादव भी साथ खड़ा रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *