अरबों रुपए बाढ़ प्रबंधन पर खर्च करने के बावजूद लोगों को नहीं मिल रही राहत- पप्पू यादव

गोपालगंज (जागता हिंदुस्तान) जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने गोपालगंज जिले का दौरा किया तथा वहां बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया। पप्पू यादव टूटे सत्तरघाट पुल पर भी पहुंचे और वहां ग्रामीणों से बात की। उन्होंने कहा कि 264 करोड़ रुपए से बना पुल एक महीने में ही ध्वस्त हो गया। यह दर्शाता है कि इस सरकार में भ्रष्टाचार कितना व्याप्त है।

आगे उन्होंने कहा कि नदियां जो पहले वरदान थी वो अब अभिशाप बन गई हैं। सरकार ने आम जनता को बाढ़ की विभीषिका के बीच छोड़ दिया है। लोगों के पास राशन हैं या नहीं, इसकी चिंता किसी को नहीं है। बाढ़ अब गरीबी और बीमारी का मुख्य कारण बन गया है। हर साल जनता के अरबों रुपये बाढ़ प्रबंधन पर खर्च किए जाते है लेकिन लोगों को राहत नहीं मिलता। आम आदमी को उसके हाल पर छोड़ सत्ता पक्ष के नेता घर में बंद हैं।

राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि हर वर्ष सरकार बोलती है कि इस बार बांध नहीं टूटेगी। लेकिन हर साल 10-12 बांध टूट जाते हैं। फिर इसकी मरम्मत के नाम पर करोड़ों रुपए जारी किए जाते हैं और इसे भ्रष्ट नेता और अधिकारी अपनी जेब में रख लेते हैं।

सिंचाई विभाग के मंत्रियों और अधिकारियों के कार्यों की जांच की मांग करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि मंत्रियों और इंजिनियरों के कार्यों की जांच उच्च न्यायालय के न्यायाधीश की निगरानी में होनी चाहिए ताकि पता चल सके कि बिहार की जनता का अरबों रुपया किस पानी में डूब गया। मौके पर जाप के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेमचन्द सिंह मौजूद थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *