प्रशिक्षण और सामाजिक दूरी के मानदंडों के साथ स्ट्रीट वेंडिंग चालू करने की मिले अनुमति- NASVI

न्यूज़ डेस्क (जागता हिंदुस्तान) नेशनल एसोशिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर्स ऑफ इंडिया (नासवी) की राष्ट्रीय कार्यकरणी समिति ने आज विडियो कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग के जरिये प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्र के नाम सम्बोधन मे रेहड़ी-पटरी वालों व ठेला चालको का उल्लेख करने हुए प्रसन्नता व्यक्त की। बैठक की अध्यक्षता चन्द्र प्रकाश सिंह ने की वही समन्वयक अरबिन्द सिंह ने देश भर मे कोरोना संकट के दौरान वेंडर्स की स्थिति पर प्रकाश डाला।

कार्यकरणी समिति ने महसूस किया कि स्ट्रीट वेंडर्स ने वास्तव में एक इस संकट की घड़ी में राष्ट्र की मजबूत से रक्षा की है| लेकिन अब इनकी हालत खराब हो रही है और जल्द ही अपने काम पर लौटने की जरूरत है। इसलिए कार्यकरणी समिति ने प्रधानमंत्री से स्ट्रीट वेंडिंग के लिए दिशानिर्देश निर्धारित करने का आग्रह किया है, जिसमें निम्नलिखित शामिल हैं:

वेंडिंग के लिए पास / प्रमाण पत्र जारी करना: नगर निगम या जिला मजिस्ट्रेट को सब्जी और फल वेंडिंग के लिए पास देना चाहिए, जो केवल वास्तविक स्ट्रीट वेंडरों को ही प्राप्त हो, क्योंकि कई नए व्यक्ति अपने स्थानीय संपर्कों का उपयोग कर इस व्यवसाय में शामिल हो रहे हैं। वास्तविक रेहड़ी वालों को को आसानी से पहचाना जा सकता है
1. शहरी स्थानीय निकायों द्वारा जारी किए गए पहचान पत्रों से
2. या जिनके नाम पिछले सर्वेक्षण में अंकित हैं
3. या टाउन वेंडिंग कमेटी के सदस्यों द्वारा इसका चिन्हित किया जाता है

I. वेंडर्स मार्केट की अनुमति दें: रेहड़ी वाले ठेला पर काम करते हैं या वे जमीन पर वस्तुएं डालते हैं तो ग्राहक दूसरी तरफ खड़ा हो जाता है। इसलिए विक्रेताओं को सामाजिक दूरी के मानदंडों के साथ अनुमति दें – एक समय में एक ग्राहक ही निर्धारित किया जाय |

II. साप्ताहिक बाजारों को दैनिक बाजारों में परिवर्तित करें: साप्ताहिक बाजार बड़ी संख्या में ग्राहकों को आकर्षित करते हैं क्योंकि वे जानते हैं कि बाजार एक सप्ताह के बाद आएगा। एक ही वेंडर्स साप्ताहिक बाजार में भी अलग अलग घूमते हैं। उन्हें दैनिक बाजार में बदलने से वेंडर्स और ग्राहकों की भी संख्या वितरित किया जा सकेगा |

III. फूड जोन: ज़ोमटो, स्वीग्गी, पिज्जा हट, डोमिनोस इत्यादि व्यवसाय कर रहे हैं। फिर खाद्य विक्रेता (स्ट्रीट फूड वेंडर्स) क्यों वंचित किया जा रहा है? हम COVID-19 से निपटने के लिए खाद्य विक्रेताओं को प्रशिक्षण प्रदान कर रहे हैं। प्रशिक्षण में हमारी मदद करें और फूड जोन स्थापित करें।

IV. टाइम जोन: भीड़ से बचने के लिए विभिन्न वेंडर्स के लिए अलग-अलग समय व क्षेत्र निर्धारित किया जा सकता है|

V. रात्री मार्केट: कई एशियाई देशों में रात्री मार्केट की एक बड़ी सफलता रही है। कुछ शहरों में प्रयास करें। मुझे यकीन है कि इस अवधारणा का विस्तार होगा।

VI. वेंडिंग जोन: शहरों में वेंडिंग जोन जितनी जल्दी हो सके निर्धारित किया जाय ।

VII. वेंडर्स को ब्याज मुक्त ऋण: अधिकांश वेंडर्स ने कार्यशील पूंजी भोजन के लिए इस्तेमाल कर लिया है। स्ट्रीट वेंडर्स के साथ समुदाय आधारित किश्तों के दैनिक रिटर्न के साथ वित्तीय सुविधा प्रदान करें| । यह लॉकडाउन के बाद उन्हें ऋणदाताओं व महाजनो के पास जाने से रोक देगा।

VIII. नकद हस्तांतरण: नगर निकायों में राष्ट्रिय शहरी आजीविका मिशन (एनयूएलएम) अनसुचित फंड का उपयोग करके स्ट्रीट वेंडर्स के खाते में तत्काल नकद हस्तांतरण किया जाय । इस अवधि के दौरान केवाईसी मानदंडों में ढील दी जानी चाहिए ताकि वे अपने बैंक खातों को संचालित कर सकें।

IX. राशन कार्ड: सभी स्ट्रीट वेंडर्स को आवश्यक खाद्य आवश्यकताएं प्राप्त करने के लिए अस्थायी राशन कार्ड जारी किए जाने चाहिए, राशन कार्डों की पोर्टेबिलिटी को वन नेशन वन राशन कार्ड के कार्यान्वयन के लिए शुरू किया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *