Lockdown3.0 : कोटा से छात्रों को लेकर विशेष ट्रेन आज पहुंचेगी पटना, जिला प्रशासन मुस्तैद

पटना (जागता हिंदुस्तान) राजस्थान के कोटा से छात्रों को लेकर विशेष ट्रेन आज (मंगलवार) दोपहर बाद दानापुर स्टेशन पहुंचेगी। इस संबंध में जिलाधिकारी कुमार रवि ने बताया कि दानापुर में सभी छात्रों की स्क्रीनिंग की जाएगी। स्क्रीनिंग के उपरांत पटना जिला छोड़कर अन्य जिला के छात्रों को उस जिला द्वारा भेजे गए बस से उनके जिले में भेजने की व्यवस्था है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि पटना जिला के छात्रों को दानापुर स्टेशन पर स्क्रीनिंग के उपरांत उनके संबंधित थाना में भेजा जाएगा। अगर कोई अभिभावक अपने वार्ड को अपने निजी वाहन द्वारा लेकर जाना चाहते है तो वे संबंधित थानाध्यक्ष से संपर्क कर सकते हैं। वहीं जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि अगर कोई निजी वाहन नहीं है तो संबंधित थानाध्यक्ष की जिम्मेवारी होगी कि छात्र को गंतव्य तक पहुंचाया जाये, जहां उन्हें क्वेरेंटाइन के नियमों का पालन करना होगा।

बता दें कि इससे पहले केरल के एर्नाकुलम एवं तिरूर से बिहारी श्रमिकों को लेकर स्पेशल ट्रेन सोमवार को दानापुर स्टेशन पहुंची। जिलाधिकारी कुमार रवि द्वारा यात्रियों की स्क्रीनिंग कराने एवं अन्य कार्यों के सुचारू संपादन हेतु सुदृढ एवं सुचारु व्यवस्था की गई। इस क्रम में जिलाधिकारी द्वारा दानापुर स्टेशन पर पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई तथा जिलाधिकारी अपने तमाम प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारियों के साथ दिन भर मुस्तैद रहे एवं सभी कार्यों की सतत एवं प्रभावी मॉनिटरिंग करते रहे। स्क्रीनिंग हेतु 24 मेडिकल टीम की तैनाती की गई। प्रत्येक टीम में 2 डॉक्टर एक फार्मासिस्ट एवं दो अन्य स्वास्थ्यकर्मी को शामिल किया गया। दानापुर स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर पर्याप्त संख्या में चिकित्सीय परीक्षण काउंटर बनाए गए । दानापुर जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर एक पर ट्रेन के रुकते ही प्रत्येक बोगी से यात्री को बारी- बारी से निकाला गया। बोगी से निकलते ही यात्री को सेनीटाइज किया गया तथा उनका निबंधन कर थर्मल स्केनर/इंफ्रारेड थर्मामीटर से यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई। इस क्रम में यात्रियों के सोशल डिस्टेंस के मानक का पालन कराया गया तथा वहां से पंक्तिबद्ध कर स्टेशन परिसर में जिलावार निर्धारित स्थान पर बैठाया गया। सभी यात्रियों को फुड पैकेट उपलब्ध कराया गया। यात्रियों को सरकारी/ निजी बस द्वारा उनके जिला में भेजा गया। यात्रियों के चेहरों पर अपने घर वापसी तथा जिला प्रशासन द्वारा प्रदान की गई सुविधा के प्रति खुशी स्पष्ट परिलक्षित हो रही थी। यात्रियों की सुविधा एवं सुचारू व्यवस्था के लिए लगातार माइकिंग किया जा रहा था तथा सभी अधिकारी अपने अपने दायित्व में तल्लीन थे। यात्रियों के सम्मान में स्टेशन परिसर में जगह-जगह बैनर पोस्टर लगाए गए थे तथा उन्हें आवश्यक सूचना प्रदान करने हेतु परिसर में पोस्टररिंग किया गया था। एर्नाकुलम से लगभग 1167 श्रमिक दानापुर स्टेशन आये। इसमें प्रमुख रूप से अररिया जिला के 210 श्रमिक, नवादा जिला के 195 ,पश्चिमी चंपारण के 99 ,मुजफ्फरपुर के 93 , पूर्णिया के 88 श्रमिक थे। इसी प्रकार से तिरूर से लगभग 1143 श्रमिक दानापुर स्टेशन आये जिसमें अररिया जिला के 231 , कटिहार जिला के 143, मधुबनी के 135 , वैशाली के 99 श्रमिक थे। दानापुर स्टेशन पर प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने भी स्थिति का जायजा लेने हेतु स्थलीय निरीक्षण किया तथा आवश्यक निर्देश दिया। दानापुर स्टेशन पर वरीय पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा, उप विकास आयुक्त रिची पांडे, अपर समाहर्ता विधि व्यवस्था, अपर समाहर्ता आपदा, अनुमंडल पदाधिकारी दानापुर सहित कई प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *