चाणक्य IAS एकेडमी के सेमिनार में सक्सेस गुरु एके मिश्रा ने बताया, कैसे प्रथम प्रयास में मिलेगी सफलता

पटना । अधिकांश लोग अपने आखिरी प्रयास तक कोशिश करते रहते हैं लेकिन यह सोच लेना कि मैं सारे attempt लेने वाला हूं यह गलत है। इसलिए अपने आप को एक निश्चित समय अवधि दें और माइंड को उसी अनुसार सेट करें कि हमको एक निश्चित समय में अपना लक्ष्य प्राप्त कर लेना है। जब तक हम अपने मांइड को लक्ष्य नहीं देंगे माइड हमेशा भटकता रहेगा। उक्त बातें चाणक्य आईएएस academy के फाउंडर और चेयरमैन सक्सेस गुरु ए के मिश्रा ने यूपीएससी और बीपीएससी के लिए तैयारीरत विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए नव निर्मित राजा बाजार, पटना सेंटर में कही। सक्सेस गुरु बिहार के विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करने के लिए पटना शहर में मौजूद थे।

एके मिश्रा ने आगे बताया की यूपीएससी के पूरे सिलेबस को इस तरह बनाया गया है जिससे आपके जीवन में काफी बदलाव आये।
3 गोल्डन स्टेप्स ऑफ स्मार्ट प्रिपरेशन आप क्या देखते हैं, आप क्या सुनते हैं, आप क्या बोलते हैं यदि आप उसके लिए सजग नहीं है तो इसका जिम्मेदार आप खुद है।

RIGHT UNDERSTANDING OF THE PRESCRIBED SYLLABUS

सिलेबस को इस तरह बनाया गया है कि उसे पढ़ते पढ़ते मानसिक रूप से आप पहले आईएस बनेंगे तब सामाजिक रूप से सिलेक्शन पाएंगे।
सिलेबस को लिखें और अपना खुद का नोटबुक बनाएं प्रतिदिन अपने सिलेबस को देखें।

अपने वैकल्पिक विषय का चयन समझदारी पूर्वक करें। ऑप्शनल सब्जेक्ट का सिलेक्शन अपनी लाइफ के पार्टनर को ढूंढने जैसा होना चाहिए। कोई भी सब्जेक्ट लेने के बाद लगभग 5 महीने की तैयारी से उसमें 60% लाया जा सकता है। पिछले 10 वर्षों के प्रश्नों को लगातार देखना है और फिर मॉडल प्रश्नों पर अभ्यास करना है।
5 गोल्डन रूल्स ऑफ सक्सेस इन सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन

  1. Set your goal with clarity
    Why and when तय करें और आप जहां जाना चाहते हैं उसे लिखें।

2. Make a meticulous action plan
परीक्षा के 15 दिन पहले अपने तैयारी को समाप्त कर दें।

3. Proactive and practical time management

4. Read, think, write, speak and revise
2 घंटे में डेढ़ घंटा पढ़ें, 15 मिनट उसके बारे में सोचे, 15 मिनट लिखें उसके बाद आप अपने उस टॉपिक को बोलकर किसी को समझाए और weekly उसका रिवीजन करें।

5. Make your own notes. अपना खुद का नोट्स बनाएं।

इससे पहले चाणक्य आईएएस एकेडमी पटना के डायरेक्टर डॉ कृष्णा सिंह ने विद्यार्थियों को संस्थान के स्वर्णिम इतिहास के बारे में बताते हुए कहा की पिछले 30 वर्षों में ये संस्थान करीब 5000 से ज्यादा आईएएस, आईपीएस अफसर देश को दे चुका है, 66वी बीपीएससी परीक्षा में इस संस्थान से 138 विद्यार्थियों ने चयनित होकर संस्थान का नाम गर्व से ऊंचा किया था। डॉ सिंह ने सक्सेस गुरु को बेली रोड, पटना ब्रांच के विद्यार्थियों के लिए 25% तक की छूट देने के लिए धन्यवाद दिया। ज्ञातव्य हो कि बेली रोड शाखा में 68 वीं PT के लिए टेस्ट सीरीज निः शुल्क कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *