सुशांत सिंह राजपूत की खुदकुशी को पप्पू यादव ने बताया हत्या, कहा- टार्चर कर रहे थे करण जौहर

पटना (जागता हिंदुस्तान) जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने सुशांत सिंह राजपूत की खुदकुशी के मामले को हत्या करार देते हुए बॉलीवुड की बड़ी हस्तियों को कटघरे में खड़ा किया। अपने आरोपों को बल देते हुए पप्पू यादव ने कहा कि फांसी लगाकर की गई आत्महत्या के जो दो लक्षण होते हैं (1. मुंह से जीभ का बाहर निकलना और 2. गर्दन की हड्डी का टूटना।) ये दोनों सुशांत सिंह राजपूत में नहीं पाए गए है। इसकी अच्छी तरह से जांच होनी चाहिए ताकि फिर कोई सुशांत अपनी जान न गवाएं।

पप्पू यादव ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत आत्महत्या नहीं एक प्लांड मर्डर हैं। करण जौहर सुशांत को टॉर्चर कर रहे थे। इसके अलावा सलमान खान, यशराज फिल्मस्, साजिद नाडियाडवाला, टी सीरीज, धर्मा प्रोडक्शन ने उन्हें बैन कर दिया था। सुशांत सिंह राजपूत द्वारा अनुराग कश्यप की फ़िल्म करने से इंकार करने के बाद से ही उनको शक था कि फ़िल्म इंडस्ट्री में उनके जीवन को खतरा है। इसके बाद करण जौहर ने फिल्म ‘ड्राइव’ को सिनेमाघरों में न रीलिज करके इसे नेटफ्लिक्स पर रीलिज किया।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि फ़िल्म बेफिक्रे के लिए पहले सुशांत का चयन किया गया था लेकिन बाद में उनसे फ़िल्म छीन ली गई। संजय लीला भंसाली की फ़िल्म रामलीला में आदित्य चोपड़ा के कहने पर सुशांत से फ़िल्म छीन ली गई। इस तरह तीन-चार महीनों के भीतर ही सुशांत सिंह राजपूत से 6 फ़िल्मे साइन करने के बाद छीन ली गई थी। यह सबकुछ एक सोची-समझी साजिश के तहत किया गया।

पप्पू यादव ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को चिठ्ठी लिखी है। उन्होंने कहा कि देश ने अपना होनहार बेटा खोया हैं। यदि सुशांत को न्याय नहीं मिला तो हम सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *