जिस पत्र का शुद्धि पत्र निर्गत हो चुका, उस पर प्रेस कांफ्रेंस कर अपना उपहास उड़ा रहे तेजस्वी यादव- अंजुम आरा

पटना (जागता हिंदुस्तान) पुलिस मुख्यालय द्वारा दूसरे राज्यों से वापस है बिहारी श्रमिकों को लेकर 29 मई को जारी पत्र के मामले को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष आमने-सामने है। हालांकि विवाद बढ़ता देखकर पुलिस मुख्यालय ने आनन-फानन में दूसरा पत्र जारी कर यह कह दिया कि पहला पत्र भूल वश जारी कर दिया गया था। पहले पत्र के मामले को लेकर नेता प्रतिपक्ष जैसी यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधा तो अब जदयू ने भी तेजस्वी यादव पर पलटवार किया है।

इस मामले में पार्टी की प्रदेश प्रवक्ता अंजुम आरा ने कहा है कि विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने जिस पत्र को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस किया है, उस पत्र का 4 जून को ही अपर पुलिस महानिदेशक विधि व्यवस्था के द्वारा शुद्धि पत्र निर्गत किया जा चुका है। यदि प्रवक्ता ने सवाल पूछा कि अब इस विषय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करने का क्या औचित्य? उन्होंने कहा कि इससे यह स्पष्ट है कि नेता प्रतिपक्ष ने अपनी राजनीतिक रोटी सेकने के लिए बिहार की जनता को भ्रमित करने का फिर एक बार प्रयास किया है।

अंजुम आरा ने कहा कि तेजस्वी यादव राजनीति में प्रवेश अनुकंपा की बुनियाद पर हुआ हैं, जिसे इस बात की भी समझ नहीं है कि जिस पत्र में पहले ही शुद्धि पत्र निर्गत हो चुका है उस पत्र की चर्चा कर अपना उपहास उड़ा रहे हैं।

जदयू प्रवक्ता ने कहा कि तेजस्वी यादव ने जितनी भी शिक्षा ग्रहण की है, चरवाहा विद्यालय से की है। लिहाज़ा भ्रम जाल में मत रहिए, बिहार की जनता आपको भलीभांति समझ चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *