भाजपा फोबिया से ग्रसित हैं तेजस्वी यादव, वर्चुअल रैली का विरोध नासमझी- निखिल आनंद

पटना (जागता हिंदुस्तान) बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉo निखिल आनंद ने भाजपा द्वारा प्रस्तावित 9 जून की वर्चुअल रैली का विरोध करने पर नेता विपक्ष तेजस्वी यादव पर करारा जवाबी हमला किया है।

उन्होंने कहा कि, “तेजस्वी भाजपा फोबिया से ग्रस्त दिखाई देते हैं, ऐसे में वे जल्द ही क्लिनिकल साईकोलॉजिस्ट से कॉंउंसलिंग कराए। तेजस्वी राजनीति को परिवार और नीजी प्रिवीलेज के दायरे से बाहर आकर संगठन और विचारधारा के नजरिए से देखना शुरु कर दें तो उनकी घबराहट दूर हो जाएगी। तेजस्वी यादव को भाजपा के नाम से दिल में दहशत हो गया है।

निखिल आनंद ने कहा कि वर्चुअल रैली का मतलब कोरोना दौर में ‘मास ऑनलाइन कम्युनिकेशन और इंटरैक्शन’ है। इस मध्यम से बिहार के भाजपा कार्यकर्ताओं को गृहमंत्री अमित शाह संदेश देंगे।

सर्वविदित है कि भाजपा ने कोरोना त्रासदी में जनसेवा की मिशाल कायम की है। अमित शाह वर्चुअल रैली के माध्यम से समाजसेवा और राष्ट्रसेवा के प्रति हमसभी को प्रेरित करेंगे। स्पष्टत: यह कोई चुनावी रैली नहीं है बल्कि कोरोना काल में सिर्फ कार्यकर्ताओं से संवाद कर प्रेरित करना है।

निखिल आनंद ने तेजस्वी यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि दलित पिछड़ो के नाम पर सिर्फ परिवार का भला करती है राजद। दुखद है कि तेजस्वी जाति- धर्म कॉकटेल तैयार कर नेता बनना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *