गरीबों के लिए समर्पित है केंद्र सरकार, कार्ययोजनाओं में भी दिखता है यह विशेष प्रेम- डॉ. संजय जायसवाल

पटना (जागता हिंदुस्तान) केंद्र सरकार को गरीबों के उत्थान के लिए समर्पित बताते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा “ बिना गरीबों को बढाये हुए देश का उत्थान नहीं हो सकता, यही कारण है कि मोदी सरकार का शुरुआत से ही देश के गरीब, पिछड़ों को आगे बढाने पर विशेष ध्यान रहा है. गरीबों के लिए सरकार का यह विशेष प्रेम उसकी कार्ययोजनाओं में भी दिखता है. इसीलिए गरीब कल्याण अन्न योजना का दिवाली और छठ तक विस्तार करने के बाद केंद्र सरकार ने उज्ज्वला योजना के तहत गरीबों को निशुल्क एलपीजी सिलेंडर देने की योजना का भी सितंबर अंत तक विस्तार कर दिया है.”

डॉ. जायसवाल ने कहा “ पिछले 6 साल के अपने कार्यकाल में प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने गरीबों पिछड़ों के लिए जितना काम किया है, उतना कांग्रेस पिछले कई दशकों के अपने राज में सोच तक नहीं पायी थी. याद करें तो कांग्रेस राज में सरकारी स्कीम के लाभार्थियों के हाथ 100 रुपये में से महज 15 रुपये लगते थे, जिसे खुद कांग्रेस के बड़े नेता भी कई बार स्वीकार कर चुके हैं, लेकिन मोदी सरकार में डीबीटी के जरिये सौ फीसदी रकम सीधे गरीबों के खातों में पहुंच रही है.

योजनाओं में आधार के जुड़ाव के बाद फर्जी लाभार्थियों व बिचौलियों का खात्मा हो चुका है, जिससे देश के 90,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम गलत हाथों में जाने से बचाए जा चुके हैं. अभी तक 33 करोड़ से अधिक जरूरतमंद लोग इसके जरिये लाभ उठा चुके हैं. इसी तरह पिछले पांच साल में जन धन खातों की संख्या 35.75 करोड़ को पार कर गई. गरीबी हटाने के सपने दिखाने वाली कांग्रेस ने अपने 60 साल में इतनी भी परवाह नहीं की कि गरीबों को भी अपने बैंक खाते होने का एहसास मिले.”

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा “ गरीबों के प्रति अपने इसी समर्पण के तहत केंद्र सरकार ने 1.15 लाख घरों के निर्माण को भी अपनी मंजूरी दे दी है. एक बेडरूम और किचेन के साथ बनने वाले इन घरों पर करीब 600 करोड़ का खर्चा आने वाला है. वास्तव में मोदी सरकार के फोकस में समाज के उन वर्गों के लोग हैं जो अब तक विकास की सरकारी योजनाओं के दायरे से बाहर रहे थे. आज वो अपने रोजगार का जरिया भी बना रहे हैं, लोगों को रोजगार देने के काबिल भी बन रहे हैं. तथा साथ ही देश के विकास में अपना योगदान देने के लिए सक्षम भी बन रहें हैं. अब आत्मनिर्भर भारत अभियान से इनके विकास की गति और तेज होगी.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *