आरोग्य सेतु ऐप : ओवैसी के बाद राहुल गांधी ने उठाये सवाल, कहा- भय का लाभ नहीं उठाया जाना चाहिए

पटना (जागता हिंदुस्तान) कोरोना संक्रमण के प्रसार के जोख़िम का आकलन और मरीजों की जानकारी हासिल करने के लिए बीते 2 अप्रैल को लांच किए गए भारत सरकार के आरोग्य सेतु ऐप के डेटा सुरक्षा और गोपनीयता को लेकर एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के बाद अब कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी सवाल उठाया है।

राहुल गांधी ने कहा है कि आरोग्य सेतु ऐप एक परिष्कृत निगरानी प्रणाली है, जो बिना किसी संस्थागत निरीक्षण के एक निजी ऑपरेटर द्वारा आउटसोर्स किया जा रहा है, एक गंभीर डेटा सुरक्षा और निजता से संबंधित मामले को उठता है। राहुल गांधी ने कहा है कि तकनीक हमें सुरक्षित रखने में मदद करता है लेकिन नागरिकों की सहमति के बिना उनपर नज़र रखने के लिए उनके डर का फायदा नहीं उठाया जाना चाहिए।

गौरतलब है कि इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी ने आरोग्य सेतु ऐप को लेकर कहा कि केंद्र सरकार कोविड-19 से ताली, थाली बिजली और एक बेहद संदेहात्मक ऐप के साथ लड़ रही है। इसके साथ ही उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि अब दिल्ली के सुल्तान ने फरमान जारी कर दिया है कि इस मामले में नागरिकों के पास कोई विकल्प नहीं है सभी को अपने निजी डेटा सरकार के साथ शेयर करना होगा।

बता दें कि आरोग्य सेतु ऐप की मदद से आसपास के कोविड 19 मरीज़ के बारे में जानकारी हासिल की जा सकती है। पीआईबी की वेबसाइट दी गई जानकारी के मुताबिक़ आरोग्य सेतु ऐप कोविड-19 संक्रमण के प्रसार के जोख़िम का आकलन करने और आवश्यक होने पर आइसोलेशन सुनिश्चित करने में मदद करेगा। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी दिशानिर्देश के मुताबिक सभी सरकारी और निजी कंपनियों के कर्मचारियों के लिए आरोग्य सेतु एप अनिवार्य कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *