पैक्स प्रबंधकों का CM नीतीश को अल्टीमेटम, मांगे नहीं मानी तो करेंगे आत्मदाह

पटना (जागता हिंदुस्तान) पैक्स प्रबंधकों को सरकारी कर्मी घोषित करने समेत पांच सूत्री मांगों को लेकर आंदोलनरत पैक्स प्रबंधक संघ आर-पार की लड़ाई के मूड में नजर आ रहा है। इसी क्रम में गुरुवार को बाकायदा प्रेस वार्ता कर पैक्स प्रबंधक संघ के बिहार प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार गुप्ता एंव प्रदेश कोर कमिटी के पदाधिकारियों ने नीतीश सरकार को अल्टीमेटम दे दिया है।

उन्होंने अपनी मांगों को दोहराते हुए कहा कि अन्य राज्यों के पैक्सों मे कार्यरत प्रबंधकों की तरह बिहार राज्य के पैक्स प्रबंधकों को सरकारी कर्मी का दर्जा देने की मसँग को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आगामी 20 मार्च तक का अनुरोध किया गया है। अजय गुप्ता ने चेतावनी देते हुए कहा कि मांगे नहीं मानी गई तो ऐसी स्थिति में बाध्य होकर 25 मार्च को प्रदेश कोर कमिटी के संगठन पदाधिकारी सामूहिक रूप से बिहार विधानसभा के समक्ष आत्मदाह करेगें। पैक्स प्रबंधकों ने कहा कि मुख्यमंत्री से उनका अनुरोध है कि 20 मार्च तक पैक्स प्रबंधकों को सरकारी कर्मी का दर्जा दें।

इससे पहले अजय गुप्ता ने बताया कि राज्य में 8,463 कार्यरत पैक्स प्रबंधक है लेकिन सरकार द्वारा इन प्रबंधकों की लगातार उपेक्षा की जा रही है जबकि सरकार की महत्वाकांक्षी योजना को किसानों तक पहुंचाते हैं। अजय गुप्ता ने कहा कि अन्य राज्यों में पैक्सों में कार्यरत प्रबंधकों को सरकार स्वयं वेतन भुगतान करती है लेकिन हम प्रबंधकों को सरकार प्रत्यक्ष रूप से वेतन न देकर कमीशन के रूप में राशि देती है।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार से मांग है कि सरकार अविलंब पैक्स प्रबंधकों को सरकारी कर्मी घोषित करें अन्यथा पैक्स प्रबंधक, पैक्स अध्यक्ष एवं उनके समर्थक इस सरकार को बिहार विधानसभा चुनाव में उखाड़ फेकेंगे।

क्या हैं मांगें:-

1- पैक्स प्रबंधकों को अविलंब सरकारी कर्मी घोषित किया जाए।

2- पैक्स प्रबंधकों को सरकार वेतन मान दे।

3- कार्मिक नीति लागू करे सरकार।

4- अन्य राज्यों के पैसों में कार्यरत प्रबंधकों की तर्ज पर सुविधा मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *